City Post Live
NEWS 24x7

अंतर जिला गिरोह के पांच शातिर चोर चढ़े पुलिस के हत्थे, नेपाल तक फैले थे इनके तार

शातिर चोर की गिरफ़्तारी के बाद आमलोगों ने ली राहत की सांस

-sponsored-

- Sponsored -

-sponsored-

अंतर जिला गिरोह के पांच शातिर चोर चढ़े पुलिस के हत्थे, नेपाल तक फैले थे इनके तार

सिटी पोस्ट लाइव : आखिरकार चोरों से त्राहिमाम कर रही सुपौल पुलिस ने ना केवल बड़ी कामयाबी हासिल की है बल्कि इससे आमलोगों ने भी राहत की गहरी सांस ली है। जिला पुलिस टीम ने वैज्ञानिक अनुसंधान की मदद से अंतरजिला चोर गिरोह के पाँच अपराधियों को गिरफ्तार करने में सफलता पायी है। बताना लाजिमी है कि पिछले महीने 13 मई को बलुआ बाजार थाना क्षेत्र निवासी अनिल मिश्र के घर लाखों के समान सहित नकदी की चोरी की घटना हुई थी। इस घटना को पुलिस ने चैलेंज के रूप में लिया था। घटना के तुरंत बाद त्रिवेणीगंज ASP जितेंद्र कुमार और वीरपुर SDPO आर.के.कौशल ने मिलकर, एक पुलिस टीम गठित कर लगातार वैज्ञानिक अनुसंधान के माध्यम से चोर गिरोह तक पहुंचने में सफलता पायी तथा चोरी किये गए समान की बरामदगी के लिए भी पुरजोर मशक्कत और लगातार छापेमारी की।

परिणामस्वरूप 5 चोरों को पुलिस ने चोरी के सामान के साथ गिरफ्तार किया। पुलिस ने गिरफ्त में आये चोरों के पास से सोनी का लेपटॉप, कीमती कपड़े, दो मोबाईल, लोहा काटने वाला हेक्साआरी, लोहे का रॉड आदि बरामद किया। गिरफ्तार अपराधियों में मो इशर्फिल सुपौल के राघोपुर, मो शहादत सुपौल के किशनपुर, अशोक वर्मा,सुपौल के पिपरा, मो अली आलम सुपौल बाजार और मो शमशेर आलम सुपौल के बलुआ बाजार का रहने वाला है। घर की रेकी मोहम्मद शमशेर ने की थी और फिर घटना को इत्मीनान से अंजाम दिया गया था। ASP जितेंद्र कुमार ने बताया कि इनलोगों के गिरोह के तार सुपौल, मधेपुरा, अररिया, सहरसा, पुर्णिया जिला सहित पड़ोसी देश नेपाल से जुड़े हुए हैं। पुलिस कड़ाई से इनसे पूछताछ कर रही है। कई बड़े-बड़े मामलों के पटाक्षेप की प्रबल संभावना है। जाहिर तौर पर सुपौल पुलिस इसे बड़ी कामयाबी मान रही है और यह बड़ी कामयाबी है भी। ऐसे कामों के लिए पुलिस की पीठ थपथपाने के साथ-साथ,उसकी अतिशय हौसला आफजाई करना भी लाजिमी है।

ब्यूरो रिपोर्ट, सुपौल

- Sponsored -

-sponsored-

Subscribe to our newsletter
Sign up here to get the latest news, updates and special offers delivered directly to your inbox.
You can unsubscribe at any time

-sponsored-

Comments are closed.